माईनिंग माफिया ने मोहाली के खिजराबाद और इसके आस पास के क्षेत्र में रात के अंधेरे में फिर से अवैध माईनिंग का काम शुरू कर दिया है।

420

पंजाब के मुख्या मंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अबैध माईनिंग पर पूरी तरह से रोक लगाने के आदेश दे रखे है,लेकिन मुख्या मंत्री के आदेशों को ठेंगा दिखाते हुए
माईनिंग माफिया ने मोहाली के खिजराबाद और इसके आस पास के छेत्र में रात
के अंधेरे में फिर से अबैध माईनिंग का काम शुरू कर दिया है। चिट्टे दिन अबैध माईनिंग के निशान स्पष्ट देखे जा सकते है।
अबैध माईनिंग को लेकर बदनाम खिजराबाद में कुछ बंद रहने के बाद अबैध माईनिंग का कारोबार फिर से शुरू हो गया है,बेशक दिन में सब कुछ शांत दिखाई देता है,लेकिन अंधेरा होते ही माईनिंग मशीनों की आवाज फिर गुजने लगती है,
गांव सलेमपुर और इसके आस पास के क्षेत्र का
दौरा किया,तो चिट्टे दिन अबैध माईनिंग के निशान स्पष्ट देखने को मिले,लेकिन
खनन माफिया कही दिखाई नहीं दिया,लेकिन इतना जरूर था की खनन माफिया द्वारा 20-30 फुट तक गड्ढो से मिटटी निकाली जा चुकी है,उधर हमारी टीम कोदेख पुलिस और माईनिंग विभाग के कर्मचारियों भी मौके पर पहुँच गए,और उन्होंने जहा खेतो से मिटटी निकाली है,वहां बकायदा मिनती भी की.इस समधी जगजीत सिंह का कहना है की अबैध माईनिंग को लेकर प्रसाशनिक अधिकारियो को शिकायत करने के बावजूद कोई करवाई नहीं हो रही है,उल्टा उन्हें धमकाया जाता है,और रात जो जब उन्होंने ने मिटटी पट्ट रही मशीनों की वीडियो बनाने की कोशिश की तो उन्हें जान से मारने का प्रयास किया गया. जब कि खेत मालिक के खिलाफ भी करवाई होनी चाहिए,जगजीत का आरोप है की पुलिस को शिकायत भी की गई,लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुयी,जबकि इस क्षेत्र में बंद स्टोन क्रशर भी चल रहे है।
वही मौका देखने आये माईनिंग गार्ड पाल सिंह से बात की गई तो उन्होंने अबैध खनन होने से पूरी तरह से पल्ला झाड़ते हुए कहा की जगजीत सिंह शिकायत पर टीम बनाकर मिनती की है,और इस मामले को लेकर खेत मालिक को नोटिस जारी किया जायेगा और रिकवरी भी की जाएगी। जिले किसी भी कीमत पर अवैध खनन बर्दाश्त नहीं की जाएगी और नियम तोड़ने वाले के खिलाफ करवाई की ही जाएगी,उन्होंने कहा की अवैध खनन पर एक विस्तृत रिपोर्ट माईनिंग अधिकारी को सौंपी जाएगी।
पूर्व अकाली सरकार पर रेत माफिया कहने वाली कॉग्रेस सरकार के राज में भी
अबैध खनन बदसूरत जारी है,और मुख्या मंत्री के आदेश खाना पूर्ति से जयादा कुछ नहीं।