राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने सियाचिन बेस शिविर में सैनिकों के मनोबल को बढ़ाया

380

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद गुरुवार को लद्दाख में भारतीय सेना के सियाचिन बेस शिविर का दौरा किया ऐसा करने वाले वह दूसरे राष्ट्रपति बने  और दुनिया के उच्चतम युद्धक्षेत्र में भारतीय सीमाओं की रक्षा करने वाले सैनिकों के लिए पूरे देश का सम्मान व्यक्त किया।राष्ट्रपति ने सैनिकों को अपने संबोधन में कहा, “आपसे मिलने के लिए मेरे उत्साह के पीछे एक विशेष कारण था। मैं आपको व्यक्तिगत रूप से संदेश देना चाहता था कि सीमाओं की रक्षा करने वाले सैनिकों और अधिकारियों के लिए सभी भारतीयों के दिल में विशेष सम्मान है।राष्ट्रपति ने कहा सियाचिन दुनिया में सबसे ऊंचा युद्धक्षेत्र है और इस तरह के वातावरण में सामान्य जीवन जीना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि इन परिस्थितियों में दुश्मन से लड़ने के लिए तैयार होने के लिए और भी मुश्किल है, और यहां हमारे बहादुर सैनिकों से मिलने का सम्मान है जो यहां हमारे देश की रक्षा करते हैं।