मोहाली के लखनौर स्थित फर्नीचर मार्कीट जलकर हुई राख

467

मोहाली लांडरां रोड़ पर स्थित लखनौर फर्नीचर मार्केट में आग लगने से 70 से ज्यादा फर्नीचर की दुकानें जल कर खाक हो गई। दुकानों में पड़े फर्नीचर में से कुछ भी नहीं बचा। हालांकि आगजनि में कोई जानी नुकसान नहीं हुआ,फिलहाल आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है।
जानकारी के मुताबिक आग सुबह करीब 3.30 बजे लगी,जिस की सूचना मोहाली
फायर ब्रिगेड को दी गई। मौके पर फायर ब्रिगेड कर्मियों के साथ पुलिस कर्मचारी भी पहुंच गए थे,और सभी ने अपनी जान पर खेल कर आग बुझाई। फायर ब्रिगेड के आठ फायर टेंडरो के साथ 3 घटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया दुकाने में ही काम करने वालों के कई मजदूर भी सो रहे थे। जब तक उन्हकी नींद खुली तब तक आग काफी भडक़ चुकी थी। मार्केट के हालात सुबह तक बेहद खराब थे। आग से निकल रहे धुएं के कारण सुबह तक कुछ दिखाई नहीं दे रहा था
बचाव यह रहा की नजदीक रिहायशी छेत्र था,यदि जरा भी देर हो जाती तो नुकसान बड़ा होना था।
दुकानदार संबोध कुमार ने कहा कि उनका करीब 10 लाख का सामान जल कर खाक हो गया। अब सब फिर नए सिरे से शुरू करना होगा और हुए आर्थिक
नुकसान का सरकार से मुआबजा देना की मांग की गई.
फायर अफसर मोहन लाल वर्मा और कर्मचंद सूद ने कहा कि मोहाली के साथ साथ चंडीगढ़,डेराबस्सी से फायर टेंडर मंगवाए गए। आग लगने के बाद फायर टेंडर भरने के लिए गोदरेज कंपनी के पानी का इस्तेमाल किया गया। क्योंकि अगर वहां से पानी नहीं लिया जाता तो आग ओर भंयकर हो सकती थी। आग लगने का प्रांरभिक कारण शार्ट सॢकट ही है। क्योंकि ज्यादातर काम मार्केट में जेनरेटर से ही किया जाता है।
धटना के बाद मौके पर मोहाली के एसडीएम डॉ आरपी सिंह ने पहुंच कर घटना का जायजा लिया। उन्होंने दुकानदारों को प्रशासन की ओर से हर संभव सहयोग किए जाने का आश्वासन दिया।
बेशक आग से कोई जानी नुकसान नहीं हुआ,लेकिन दुकानदारों का करोड़ो का आर्थिक नुकसान हुआ है,जिसके लिए सरकार से मुआवजा की मांग की जा रही है।