हरियाणा में सरसों बेचने से वंचित रहे किसानों की सरसों को 31 मई, 2018 तक खरीद करने का निर्णय लिया

374

किसानों के हित में हरियाणा सरकार ने खराब मौसम व कच्ची फसल के कारण 15 मार्च से पहली अप्रैल के बीच सरसों बेचने से वंचित रहे किसानों की सरसों को 31 मई, 2018 तक खरीद करने का निर्णय लिया है।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि सरसों की खरीद भारत सरकार के न्यूनतम समर्थन मूल्य के तहत जारी रहेगी। सरसों की खरीद प्रदेश के 14 जिलों के वर्तमान 46 खरीद केन्द्रों पर जारी रहेगी। यह खरीद रेवाड़ी, चरखी-दादरी, भिवानी और झज्जर से तुरंत आरम्भ हो जाएगी और सप्ताह के अंत तक अन्य सभी जिलों को भी कवर कर लिया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी सम्बन्धित उपायुक्तों को सरसों बेचने से छूटे हुए गांवों का गांव अनुसार रोस्टर तैयार करने और इस सम्बन्ध में व्यापक प्रचार करने के निर्देश दिए गये हैं। उन्होंने बताया कि हैफेड ने पहले ही प्रदेश के 4100 गांवों को कवर करते हुए 1,14,917 किसानों से 2.28 लाख मीट्रिक टन सरसों की खरीद की जा चुकी है। खरीद में किए गये इस विस्तार से छूटे हुए किसान लाभान्वित होंगे।