भाजपा ने किया जनता के साठ कुठाराघात – सुरजेवाला

358

अखिल भारतीय कांग्रेस मीडिया प्रभारी व वरिष्ठ कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि आज भाजपा सरकार की तानाशाहीनता के कारण प्रतिदिन 47 किसान आत्महत्या कर रहे हैं। क्या इस तरह से ही देश व प्रदेश के किसानो का भला करेगी भाजपा सरकार? इसलिए बदलाव की जरूरत है। सुरजेवाला आज नारनौंद हलके के गांव खेड़ी चौपटा में किसान खेत मजदूर के महासचिव दिलबाग ढांडा द्वारा आयोजित किसान युवा अधिकार रैली’ को सम्बोधित कर रहे थे। रैली में इलाक़े से हज़ारों लोगों ने भाग लिया।

सुरजेवाला ने कहा कि मेरा भाजपा सरकार से सवाल है कि जब देश के 12 उद्योगपतियों का 2 लाख 41 हजार करोड़ का कर्जा माफ कर दिया गया तो बाजार भाव क्यों नहीं बिगड़े। जब छोटा मोदी नीरव मोदी देश का 14 हजार करोड़ ले भागा, विजय माल्या 9 हजार करोड़ रु और जतिन मेहता 8 हजार करोड़ रु लेकर भागा तब देश का बाजार भाव क्यों नहीं बिगड़ा। पिछले 6 महीनों में 56 हजार करोड़ के घोटाले मोदी सरकार की नाक के नीचे हो गया है। उन्होंने कहा कि लेकिन अगर किसान को फसल लागत का मुनाफा देने की बात आती है तो ही बाजार भाव कैसे बिगड़ता है। जब देश के 12 उद्योगपतियों का 2 लाख 41 हजार करोड़ का कर्जा माफ हो सकता है तो 62 करोड़ किसान मजदूर का 2 लाख करोड़ रु क्यों माफ नही हो सकता। सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनते ही 1 एकड़ से 2 एकड़ और बगैर जमीन वाले गरीब आदमी का 50 हजार रु तक का कर्जा माफ किया जायेगा।

सुरजेवाला ने कहा कि आज पूरे हरियाण प्रांत और पूरे देश के अंदर पीठ और पेट एक करके मिट्टी से सोना पैदा करने वाला किसान व उसके साथ काम करने वाला मजदूर पीड़ित, व्यथित और आंदोलित है। उन्होंने कहा कि जब केन्द्र में भाजपा की सरकार नहीं बनी थी तो नरेन्द्र मोदी ने कुरूक्षेत्र में एक जलसे के दौरान किसानों को वायदा किया था कि भाजपा की सरकार आने पर उनको फसल लागत का 50 फीसदी मुनाफा दिया जाएगा। जब सरकार बनी तो मोदी व खट्टर सरकार ने इस वायदे को भूलाकर किसानों की पीठ पर खंजर घोपने का काम किया। उन्होंने कहा कि यहां तक ही नहीं केन्द्र सरकार ने 22 फरवरी 2015 को सुप्रीम कोर्ट में शपथ पत्र देकर कहा था कि वह किसानों को 50 फीसदी मुनाफा नहीं दे सकते। इससे बाजार भाव बिगड़ जाएगा।

सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस अपने शासन में सरसों का भाव 1700 रु प्रति क्विंटल से 3000 रु प्रति क्विंटल तक लेकर गई और आज भाव 4000 रु है लेकिन उसे 3200 रु से ऊपर खरीदा नही जा रहा है। कांग्रेस राज में बाजरा 1250 रु प्रति क्विंटल रहा आज भाजपा ने उसे 1400 रु तो कर दिया लेकिन खरीद बंद कर दी। जहां कांग्रेस शासन में कपास के भाव 6000 रु से 6500 रु प्रति क्विंटल रहे वहीं आज कपास भाजपा राज में 4000 रु से 4200 रु तक पीट रही है। कांग्रेस राज में 1121 व 1509 किस्म की धान 5500 रु प्रति क्विंटल तक बिकी लेकिन आज भाजपा राज में 3200 रु प्रति क्विंटल तक पिटी है।
सुरजेवाला ने भाजपा सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि मोदी सरकार ने तो अब स्वामीनाथन कमेटी को जुमलानाथन कमेटी बना दिया है। उन्होंने कहा कि किसान की फसल खराब होती है तो केन्द्र व खट्टर सरकार कहती है कि हमने फसल बीमा योजना लागू की है। इसकी सच्चाई किसी को नहीं बताई। इस सरकार ने खेती बाड़ी पर टैक्स लगाकर 22 हजार करोड़ रुपये एकत्रित कर लिए और किसानों को बीमा के रूप में केवल मात्र 5 हजार 600 करोड़ रुपया दिया गया। 14 हजार करोड़ रुपये देश की 7 बीमा कंपनियों के खाते में चले गए, इनमें से कुछ कंपनियां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की चहेती कंपनियां हैं। उन्होंने कहा कि इस योजना का नाम प्रधानमंत्री फसल बीमा नहीं, बल्कि प्राइवेट मुनाफा बीमा योजना होना चाहिए था। सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस ने किसान व किसान के यंत्रों और गरीबों के मकान को कभी भी कुर्क ना करने का कानून बनाया लेकिन आज खट्टर सरकार ने जींद के लगभग 15 हजार किसानों की जमीन कुर्क करने के आदेश देकर अपना किसान विरोधी चेहरा बेनकाब किया है।

प्रदेश की खट्टर सरकार पर बरसते हुए सुरजेवाला ने कहा कि हरियाणा सरकार युवा विरोधी है। रोजगार देने की बजाए युवाओं से रोजगार छीने जा रहे हैं। हरियाणा की खट्टर सरकार द्वारा केवल 8700 नौकरियां देकर इस प्रदेश के युवाओं के साथ दुर्व्यवहार किया है। ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी सरकार के शासनकाल में पेपर लीक हुआ हो ऐसी निक्कमी और बहरी सरकार ने आज किसानों और युवाओं के दिलों पर कुठाराघात करने का काम किया है।
केंद्र की मोदी सरकार पेट्रोल और डीजल पर 11 बार एक्साइज ड्यूटी बढ़ाकर 10 लाख करोड़ रुपए इकठ्ठे कर गई है और इसी तरह हरियाणा की खट्टर सरकार पेट्रोल और डीजल पर वैट लगाकर 32 हजार करोड़ रुपए कमा गई है।
खट्टर सरकार ने तो डीजल पर 09.50 प्रतिशत से बढ़ाकर 17.25 प्रतिशत और पेट्रोल पर 21 प्रतिशत से 26.25 प्रतिशत करके इस प्रदेश की जनता की जेब पर डाका डालने का काम किया है।

सुरजेवाला ने कहा आज इस किसान युवा अधिकार रैली की जरूरत इसलिए पड़ी क्योंकि इस रैली की हुंकार से दिल्ली की सरकार हिल जाए और हमारे अधिकारों की हुंकार से मनोहर लाल खट्टर की सरकार हिल जाए।

अपने संबोधन के आखिर में सुरजेवाला ने कहा कि यह बदलाव रैली सत्ता प्राप्ति, राजगद्दी प्राप्ति या चुनाव जीतने की मंशा से नहीं की गई बल्कि यहाँ की जनता के हकों को उन्हें सौंपने के लिए की गई है। यह रैली व्यवस्था परिवर्तन की रैली है। यह रैली किसान, मजदूर, छोटे छोटे दुकानदार का धंधा लौटाने के लिए है, यह रैली किसानों के चेहरों पर ख़ुशी लौटाने की है। इलाके की तस्वीर नेतृत्व से बदलती है, इलाके नेता बनाते हैं और नेता इलाके की तस्वीर बदलते हैं। जनता से अपील करते हुए रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि आप कांग्रेस को वोट दो, आपकी हर एक वोट रणदीप सुरजेवाला को पड़ेगी। हम नारनौंद की जनता के साथ गांव गांव, शहर के हर वार्ड में कांग्रेस पार्टी का अलख जगायेंगे और भाजपा को दहाई का आंकडा भी नहीं छूने देंगे।